गुरुवार, 19 अप्रैल 2012

पहली मुलाकात



तेरे इंतज़ार का हर लम्हा
हर लम्हा यूं ही लंबा होता जाता था

मिलन की आस मुझे थी लेकिन
मै यूं ही हर पल चलता जाता था
 
तेरे मिलन की आस मुझे हर पल
दूर किरण एक आशा की दिखलाती थी
 
भान मुझे था की तुम कैसी हो ..
भोली भाली और थोड़ी इठलाती सी

प्यार ढेरों होगा तेरे दिल में और
अभिव्यक्ति होगी तेरे मुखड़े पर
 
नहीं भूलेगा वो पल
हाँ नहीं भूलेगा वो एक पल मुझे
जब तुमसे मेरी नज़र मिली

तेरी  नज़रों में उमड़ता
वो मेरे लिए ढेरों प्यार मिला
 
तेरी आँखों में वो हीरे सी चमक 
तेरी वो हर पल मुझे लुभाती मुस्कुराहट

वो तेरी जुल्फों का तेरे गालों पर गिरना
और वो तेरा
नटखट सा खिलखिलाना  
 
तेरी हर एक साँस और
दिल की हर एक धड़कन .....

सब याद है मुझे .. हरेक पल याद है मुझे
सदा ही याद रहेगा मुझे ... वो हर एक पल

14 टिप्‍पणियां:

  1. पहली मुलाकात का अनूठा अहसास, जो रहता है जीवन भर आस पास।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बिलकुल सही कहा सुधा जी आपने .... हरदम आसपास, प्रतिक्रिया के लिए आभार

      हटाएं
  2. सदा ही याद रहेगा मुझे ... वो हर एक पल
    पहला - पहला प्यार ऐसा ही होता है भुलाये नहीं भूलता... सुन्दर रचना... आभार

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपके प्रोत्साहन के लिए धन्यवाद् संध्या जी

      हटाएं
  3. बहुत सुन्दर लिखा है आपने ..
    लिखते रहिये खुश रहिये
    शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. मंजुला जी आपके प्रोत्साहन और शुभकामनाओ के लिए धन्यवाद्

      हटाएं
  4. तेरी नज़रों में उमड़ता
    वो मेरे लिए ढेरों प्यार मिला

    तेरी आँखों में वो हीरे सी चमक
    तेरी वो हर पल मुझे लुभाती मुस्कुराहट bahut sunder

    उत्तर देंहटाएं
  5. ब्लॉग पर आने और सराहने के लिए धन्यवाद् रजनी जी

    उत्तर देंहटाएं
  6. can feel the love in words....pyar say bhari rachna...behad pyari.....

    उत्तर देंहटाएं
  7. बेहद खूबसूरत एहसास ...प्यार की ..प्यार से लिखी गई लेखनी

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर लिखा है, इसी तरह से लिखते रहिये. जरूरी नहीं है कि रोज ही लिखा जाय. जब लिखने का मन होता है तो काम के बीच में भी कलम रुकती नहीं है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. har lamha yuhi lamba hota jata tha....behtreen...
    http://ehsaasmere.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  10. Bahut sundar Ehsaas...wahh
    मिलन की आस मुझे थी लेकिन
    मै यूं ही हर पल चलता जाता था
    http://ehsaasmere.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं